Explore

Search

July 15, 2024 2:04 pm

Our Social Media:

IAS Coaching
लेटेस्ट न्यूज़

लपरवाही का भेंट चढ़ा एक निर्माणाधीण पुल, ढलाई के साथ ही भड़भड़ा कर गिरा

 

मोतिहारी में भ्रष्टाचार का भेंट चढ़ा एक निर्माणाधीण पुल, ढलाई के साथ ही भड़भड़ा कर गिर गया। बिहार में पुलो के ढ़हने का सिलसिला रूकने का नाम नहीं ले रहा है। अररिया व सीवान के बाद पूर्वी चंपारण जिले के घोड़ासहन प्रखंड के अमवा में बन रहा आरसीसी पुल निर्माण के साथ ही भड़भड़ा कर गिर गया। पुल का निर्माण ग्रामीण कार्य विभाग ढ़ाका प्रमंडल की देख रेख में किया जा रहा था। पुल की कुल लंबाई 17.95 मीटर है। इसके बनने में खर्च होने वाली अनुमानित लागत एक करोड़ उनसठ लाख इक्कीस हजार रुपये बताया जा रहा है। इस पुल को ग्रामीण कार्य विभाग की देखरेख में बनाया जा रहा है। पुलनिर्माण की जिम्मेदारी धीरेंद्र कंस्ट्रक्शन मोतिहारी को मिली थी। गांव के लोग पुल के बनने में इस्तेमाल होने वाली सामग्री की गुणवता पर सवाल उठा रहे हैं। उनका आरोप है कि पुल बनने में जिस स्तर का माल प्रयोग होना चाहिए था, वैसा नहीं किया गया है। ग्रामीणों का आरोप है कि सस्ते और घटिया क्वालिटी के माल का इस्तमाल करने के कारण ही ऐसा हुआ है। इसके पीछे एक ही वजह है भ्रष्टाचार।

ग्रामीणों ने बताया कि पुल निर्माण में घटिया बालू, सीमेंट एवं मानक के अनुरूप कंक्रीट का प्रयोग नहीं किया जा रहा था। ढ़लाई के लिए लगाया गया सेन्ट्रिग भी कमजोर था। सेन्ट्रिग में मानक के अनुरूप पाइप का उपयोग नहीं किया गया था। जिससे ढलाई के साथ हीं गिर गया। वहीं ग्रामीण कार्य विभाग के एक्सक्यूटिव इंजीनियर एस एन मंडल इससे अलग राय रखते हैं। वो कहते हैं कि पुल गिरने की वजह शरारती तत्वों की गतिविधियां है। उन्होंने कहा कि ढ़लाई के बाद पुल के साथ छेड़छाड़ की गई है। उसके बेस के साथ किसी ने छेडछाड़ करके गिराने की कोशिश की है। शाम को पुल का निर्माण कार्य पूरा हो चुका था। रात्री मे किसी ने सेंन्ट्रिग के साथ छेडछाड की जिससे पुल ध्वस्त हो गया।

Khabare Abtak
Author: Khabare Abtak

Leave a Comment

लाइव टीवी
विज्ञापन
लाइव क्रिकेट स्कोर
पंचांग
rashifal code
सोना चांदी की कीमत
Infoverse Academy